रेल के किराए पर नहीं चलेगी प्राइवेट ऑपरेटर्स की मनमानी

देश की पहली  Private Train का परिचालन  Lucknow से New Delhi के बीच अक्टूाबर के पहले सप्तालह में शुरू होने जा रहा है। इसी महीने त्योपहारों का सीजन भी शुरू होने जा रहा है। ऐसे में भारतीय रेलवे ने पहले ही साफ कर दिया है कि Private Train में त्योमहारों के दौरान मांग बढ़ने पर टिकटों की कीमत को नियंत्रित करने के लिए रेल विकास प्राधिकरण 1  रेगुलेटर की व्यबवस्था  करेगी।

इस रेगुलेटर का कार्य Private Train में टिकटों की कीमत और अन्यी चीजों पर रहेगा, ताकि यात्रियों को किसी प्रकार की कोई असुविधा न होरेल विकास प्राधिकरण को निजी ट्रेन Operators  के लिए सीमा या दिशानिर्देशों को परिभाषित करने के लिए नियामक के रूप में तय किया जाएगा। रेलवे रेगुलेटर ट्रेन का संचालन करने वाले निजी Operators के लिए किराए पर एक ऊपरी कैप भी लगाएंगे। इसका फायदा यह होगा कि निजी ऑपरेटर यात्रियों से मांग बढ़ने पर भी बहुत ज्यासदा दाम टिकट का नहीं ले सकेंगे।

रेल मंत्रालय अब आरडीए की भूमिका को फिर से परिभाषित करने के लिए काम कर रहा है, जिसमें निजी Operators के लिए नियम और शर्तें होंगी। रेलवे के 1अधिकारी ने बताया कि अभी किराए और अन्यp चीजों को लेकर नियम तय नहीं हुए हैं।, इनको लेकर बड़ी तेजी से काम चल रहा है। उन्हों ने बताया कि कई उद्योगपतियों ने Private Train ऑपरेट करने की इच्छाह जाहिर की है। हालांकि, उन्हों ने किसी का नाम नहीं बताया, लेकिन यह जरूर कहा कि उचित और पारदर्शी तरीके से निजी Operators के हाथों में Train परिचालन की जिम्मेदारी सौंपी जाएगी।

loading...

Leave a Comment