अगले माह तक लखनऊ से जम्मू, दिल्ली-पंजाब का जोडेगा वैकल्पिक रुट

ओवरलोड हो चुके अगले माह तक जाने वाले रूट के लिए वैकल्पिक रूट अगले माह तक तैयार हो जाएगा। ऐशबाग से सीतापुर तक रेल विद्युतीकरण का काम पूरा हो गया है। इसका निरीक्षण 25 फरवरी को रेल संरक्षा आयुक्त करेंगे। आयुक्त की क्लीयरेंस के बाद बिजली इंजन की ट्रेनें इस सेक्शन पर दौड़ सकेंगी।

वहीं, रेलवे ने ऐशबाग-सीतापुर के लिए मेमू ट्रेनें चलाने और नए रूट को लेकर भी मंथन शुरू कर दिया है। इस समय लखनऊ से हरदोई-बरेली-मुरादाबाद जाने वाले रेलखंड का 150 प्रतिशत इस्तेमाल हो रहा है। ऐसे में नई ट्रेनों को चलाने और डबल डेकर को जयपुर तक विस्तार देने के लिए समय नहीं मिल पा रहा है।

ऐशबाग से सीतापुर होकर पिछले साल आमान परिवर्तन के बाद बड़ी लाइन की ट्रेनें दौडऩे लगीं। इस सिंगल रूट पर विद्युतीकरण नहीं था। रेलवे ने ट्रायल के तौर पर जबलपुर से लखनऊ होकर हरिद्वार तक स्पेशल ट्रेन भी चलाई थी।

अब विद्युतीकरण होने से डबल डेकर को इसी रूट से लखनऊ जंक्शन से आनंद विहार तक चलाने की तैयारी रेलवे कर रहा है साथ ही रेलवे ने इसके जयपुर तक विस्तार के लिए भी मुख्यालय को पत्र भेजा है। सीतापुर से रोजा-शाहजहांपुर-बरेली होकर काठगोदाम, दिल्ली, पंजाब व दिल्ली की ओर ट्रेनों का संचालन किया जा सकेगा।

Leave a Comment

x