आतंकी हमले की साजिश को नाकाम कर तीन आतंकियों को किया गिरफ्तार

पंजाब के लुधियाना के हलवारा एयरबेस पर पठानकोट एयरफोर्स स्‍टेशन की तरह आतंकी हमले की साजिश थी। पंजाब पुलिस ने इस साजिश नाकाम कर दिया और तीन आतंकियों को गिरफ्तार किया है।

तीनों का संबंध खालिस्तान समर्थक अलगाववादी संगठनों से है। अभी पुलिस ने आतंकी संगठनों का नाम नहीं बताया है। वैसे गिरफ्तार किए गए आतंकियों के नाम में लुधियाना के टूसे गांव के रामपाल सिंह व सुखकिरण सिंह सुक्खा, जबकि हिमाचल प्रदेश का साबिर अली बताए जा रहे हैं।

रामपाल सिंह एयरबेस की खुफिया जानकारी व फोटो पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आइएसआइ के एजेंट अदनान आदी को भेजता था। सुधार थाने के डीएसपी गुरबंस ¨सह ने बताया कि उन्होंने एक गुप्त सूचना के आधार पर गांव रत्तोवाल में चेकिंग के दौरान रामपाल को काबू किया। वह कुछ साल पहले कुवैत में रह कर आया है और अभी एयरबेस में डीजल मैकेनिक के तौर पर तैनात था।

रामपाल पाकिस्तान से हथियार व अन्य सामग्री मंगवाने के लिए आइएसआइ के एजेंट अदनान को वाट्सएप संदेश भेजता था। वह उससे एयरबेस की खुफिया जानकारी व फोटो भी शेयर करता था।

रामपाल का तीसरा साथी साबिर अली हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले के गांव लाल पीपल का रहने वाला है। देशद्रोह की धारा व यूएपीए एक्ट में मामला दर्जतीनों के खिलाफ धारा 124 ए (देशद्रोह), धारा 153 ए (भाषण या बयान से उपद्रव फैलाना), धारा 120 बी (किसी मृत्यु दंड जैसे दंडनीय अपराध में शरीक होना), यूएपीए एक्ट 1967, 3, 4, 5, 9 (आतंकवादी गतिविधियों में लिप्त) आफिसिटल सीक्रेट एक्ट 1923 (दुश्मन देश को मदद करना) के तहत केस दर्ज किया गया है।

तीनों से पूछताछ की जा रही है कि वह कब से इन गतिविधियों में संलिप्त हैं। उन्होंने क्या-क्या जानकारी पाकिस्तानी एजेंटों को सौंपी है।

सुखकिरण को पिस्तौल के साथ पकड़ा था लुधियाना के सुधार थाने की पुलिस ने 25 दिसंबर को सुखकिरण सुक्खा को अवैध पिस्तौल के साथ गिरफ्तार किया गया था।

इसके बाद एसएसपी जगराओं चरणजीत सिंह सोहल ने अपनी टीम के साथ मिलकर बाकी दो लोगों को गिरफ्तार किया।

Leave a Comment