खून से खत लिखकर की ऐसी मांग, तीन दिन से दे रहे हैं धरना

कानपुर। सपा और भाजपा की राजनीतिक तल्खियां किसी से छिपी नहीं हैं, अब ऐसे में भाजपा सरकार तक अपनी बात पहुंचाने के लिए सपा विधायक फिर एक बार अनोखा तरीका अपनाया है। इससे पहले भी शासन और प्रशासन तक अपनी बात पहुंचाने के लिए अनोखे तरीके अपना चुके हैं। अब तीन दिन से धरना दे रहे विधायक ने खून से खत लिखकर मुख्यमंत्री तक अपनी मांग भेजी है। उन्होंने रक्त से पत्र लिखकर पेयजल संकट दूर करने की मांग की है, वहीं जलकल और जल निगम के अधिकारी भी उनसे मिलने पहुंचे।

हालसी रोड की पानी की टंकी तक गंगा बैराज की लाइन से पानी पहुंचाने के लिए सपा विधायक अमिताभ बाजपेई सोमवार से धरने पर बैठे हैं। पहले दो दिन किसी अधिकारी द्वारा बात न करने पर उन्होंने बुधवार को अपने रक्त से मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर विरोध दर्ज कराया है। खून से खत लिखने के बाद जल निगम व जलकल के अधिकारी मौके पर पहुंचे। जल निगम से अनिल कुमार वर्मा, अनिल कुमार गुप्ता, रामशरण पाल, निर्दोष जौहरी धरना स्थल पर आए। अधिकारियों ने बताया कि उन्होंने सोमवार को वॉल खोल कर लाइन चेक की थी।

पानी के प्रेशर से आधा दर्जन लीकेज हो गए हैं। उनकी रिपेयरिंग का काम शुरू हो चुका है। कल एक लीकेज बन गया था। दो लीकेज पर आज काम चल रहा है। बाकी तीन लीकेज भी जल्द बना लिए जाएंगे। इसके बाद फिर लाइन चेक करेंगे। अगर लीकेज नहीं हुआ तो टंकी में पानी पहुंच जाएगा। अगर कोई और लीकेज हुआ तो उसके हिसाब से तैयारी करनी पड़ेगी। अधिकारियों के धरना खत्म करने के अनुरोध को सपा विधायक ने यह कह कर ठुकरा दिया कि जब काम पूरा हो जाएगा तभी वह हटेंगे। जलकल के महाप्रबंधक आरबी राजपूत भी धरना स्थल आए और टंकी की व्यवस्था देखीं।

Leave a Comment