नई दिल्ली

गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होकर महिला फाइटर पायलट भावना कांत रचेंगी इतिहास

Above Article

गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होकर महिला फाइटर पायलट भावना कांत इतिहास रचने को तैयार हैं। वह वर्तमान में राजस्थान एयरबेस में तैनात हैं और मिग -21 बाइसन लड़ाकू विमान उड़ाती हैं, जो भारतीय वायु सेना की झांकी का हिस्सा होगा।

इसमें  हल्के लड़ाकू विमान, हल्के लड़ाकू हेलीकॉप्टर और सुखोई 30 फाइटर प्लेन शामिल होंगे। केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने Twitter पर उन्हें इसके लिए बधाई दी है और इसे पूरे देश के लिए गौरवशाली क्षण बताया।

28 वर्षीय भावना कांत भारतीय वायुसेना के फाइटर पायलट दल में शामिल तीन महिलाओं में से एक हैं। वह अवनी चतुर्वेदी और मोहना सिंह के साथ 2016 में वायुसेना में शामिल हुईं।

बिहार के दरभंगा की रहने वाली, कांत बेगूसराय में पैदा हुईं और बरौनी रिफाइनरी डीएवी पब्लिक से अपनी स्कूली शिक्षा और बेंगलुरु के बीएमएस कॉलेज से इंजीनियरिंग की। वह बचपन से ही पायलट बनना चाहती थीं। साल 2018 में उन्होंने अकेले लड़ाकू विमान उड़ाकर इतिहास रचा था।

उन्होंने इस दौरान 30 मिनट तक लड़ाकू विमान था। वह ऐसा करने वाली भारतीय वायुसेना की दूसरी महिला पायलट बनी। इससे पहले फ्लाइंग ऑफिसर अवनी चतुर्वेदी मिग-21 बाइजन एयरक्राफ्ट अकेले उड़ाकर यह करनामा किया था।

इस साल गणतंत्र दिवस परेड में फ्लाईपास्ट का समापन लड़ाकू विमान राफेल से होगा। पहली बार होगा जब यह लड़ाकू विमान गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होगा। पिछले साल फ्रांस से आठ राफेल विमान भारत आए। भारत ऐसे 36 विमान खरीदने का सौदा किया। यह सौदा 59 हजार करोड़ का है।

अगले दो साल में 36 विमान वायुसेना के बेड़े में शामिल हो जाएंगे। वायुसेना के अनुसार परेड में वायुसेना के कुल 38 विमान शामिल होंगे। फ्लाईपास्ट को दो हिस्सों में होगा। पहली परेड की योजना सुबह 10.04 बजे से लेकर 10.20 बजे तक और दूसरा 11.20 बजे से 11,45 बजे तक होगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button