गोरखपुर में व्यापारी के बेटे का अपहरण, मांगी एक करोड़ की फिरौती

 

गोरखपुर : उत्तर प्रदेश में धारावाहिक अपहरण का मामला तुल पकड़ता जा रहा है। कानपुर और गोंडा के बाद अब गोरखपुर में अपहरण की घटना से लोगों में खलबली मचा दी है। यह मामला पिपराइच थाना क्षेत्र में परचून की दुकान वाले के बेटे का अपहरण करने के बाद एक करोड़ रुपया की फिरौती मांगी गई है।

सीएम योगी आदित्यनाथ की तमाम सख्ती के बाद अब प्रदेश में अपहरण हो रहा है। पिपराइच थाना क्षेत्र के जंगल छत्रधारी गांव निवासी 14 वर्ष के बलराम गुप्ता को अगवा कर एक करोड़ की फिरौती मांगी गई है। रविवार दोपहर बाद उसके घर पर फिरौती का फोन आने के बाद पुलिस, क्राइम ब्रांच के अलावा एसटीएफ टीम को भी लगाया गया है।

जंगल धूसड़ से एक मुर्गा कारोबारी, मोबाइल सिम बेचने वाला दुकानदार और एक प्रॉपर्टी डीलर को हिरासत में लिया गया है। पुलिस पूछताछ करने में जुटी है। इसके अलावा बलराम के साथ खेलने वाले दोस्तों से भी बात कर जानकारी ली गई है। जंगल छत्रधारी गांव में मिश्रौलिया टोला निवासी महाजन गुप्त घर में ही किराने की दुकान चलाते हैं।

इसके साथ ही जमीन के कारोबार से भी जुड़े हैं। उनका बेटा बलराम रविवार को दिन में 12 बजे के आसपास खाना खाने के बाद टीशर्ट और पैंट पहनकर दोस्तों के साथ खेलने निकला और घर नहीं लौटा। करीब तीन घंटे के बाद तीन बजे महाजन गुप्त के मोबाइल पर अनजान नंबर से फोन आया।

दूसरी तरफ से बोलने वाले ने उन्हेंं बताया कि बलराम का अपहरण का लिया गया है। उसे छुड़ाने के लिए एक करोड़ रुपए का इंतजाम कर लो। अगला फोन रकम कब और कहां पहुंचानी है बताया जाएगा।

इस अपहरण की जानकारी मिलने के बाद से पुलिस के साथ क्राइम ब्रांच तथा एसटीएफ की टीम सक्रिय हो गई हैं। तीन लोगों को हिरासत में भी लिया गया है।

पिपराइच थाना क्षेत्र के कक्षा छह के छात्र के अपहरण के मामले मे पुलिस ने मुर्गा कारोबारी, सिम बेचने वाले दुकानदार और प्रॉपर्टी डीलर को हिरासत में लिया है। इनसे पूछताछ जारी है।

रिपोर्टर जितेन्द्र यादव

Leave a Comment