घोषित नई कमेटी के बाद राजनैतिक हलचल को मिली गति

 

आलापुर अंबेडकरनगर– बहुजन समाज पार्टी द्वारा मंगलवार को घोषित नई कमेटी के बाद राजनैतिक हलचल को गति मिल गई है,आलापुर में पूर्व में बेहद सक्रिय रही विधानसभा इकाई को भंग किए जाने के बाद बसपा दो फाड़ में बंटती नजर आ रही है। राजनीतिक सूत्रों की माने तो आने वाले दिनों में बड़े राजनैतिक फेरबदल देखने को मिल सकते हैं।

आलापुर सुरक्षित विधानसभा क्षेत्र में बसपा ने रामचंद्र वर्मा को अध्यक्ष की जिम्मेदारी दिया था,मंगलवार को घोषित कमेटी में रामचंद्र वर्मा सहित पुराने कार्यकर्ताओं को हटाकर अचानक नए चेहरों को तरजीह दिए जाने के बाद राजनीतिक चर्चाएं तेज हो गई है।

बताया जाता है कि जिन नए चेहरों पर बसपा ने दांव लगाया है वह पूर्व में बसपा से निष्कासित या अन्य दलों के संपर्क में रहे हैं। ऐसे में बसपा आलापुर में किस कदर पांव जमा पाएगी यह तो भविष्य के गर्भ में है लेकिन मौजूदा राजनैतिक परिस्थितियां इस बात की ओर इशारा कर रही है कि बसपा में सब कुछ ठीक-ठाक नहीं चल रहा है।

चर्चाओं पर गौर करें तो आने वाले दिनों में बसपा दो फाड़ में दिख सकती है।विदित हो कि आलापुर विधानसभा क्षेत्र पूर्व में जहांगीरगंज सुरक्षित विधानसभा क्षेत्र से बसपा सुप्रीमो मायावती प्रतिनिधित्व कर चुकी है।

बसपा की महत्वपूर्ण सीट पर अचानक हुए राजनीतिक घटनाक्रम से निष्ठावान कार्यकर्ताओं में बेहद नाराजगी देखी जा रही है जो भविष्य में बसपा के लिए शुभ संकेत नहीं है। इस संबंध में पार्टी के जिम्मेदार नेताओं ने टिप्पणी करने से इनकार किया है।

रिपोर्टर बीपी पाण्डेय

Leave a Comment