जानिए 15 साल पुराने बिना रजिस्ट्रेशन वाहनों पर कितना देना होगा जुर्माना

शहर में बिना पंजीयन दौड़ रहे वाहन RTO के लिए सिरदर्द बन गया है। बार-बार नोटिस के बाद भी गाड़ी मालिक चेत नहीं रहे है। 15 साल उम्र पूरी के होने के बाद भी गाड़ी मालिक दो व चार पहिया वाहन सड़क पर बिना पंजीयन दौड़ा रहे हैं। अब ऐसे वाहन चेकिंग में पकड़े गए तो 5 हजार रुपये तक जुर्माना देना पड़ेगा।

ऐसे वाहनों की संख्या लखनऊ में पांच लाख 32 हजार है तो प्रदेश में 46 लाख के पार बताई जा रही है। ये आकड़ा एक अगस्त 2020 तक का है। इनमें 50 फीसदी वाहन सड़क पर चलने का दावा किया जा रहा है।

जोकि इनके चलने से शहर में प्रदूषण का स्तर बढ़ने का खतरा मंडरा रहा है। RTO अंकिता शुक्ला ने कहा कि बगैर पंजीकृत वाहन अपराध के श्रेणी में आते है। बावजूद गाड़ी मालिक लापरवाह बने हुए है। अब ऐसे वाहनों के पुन: पंजीयन नहीं कराने पर चेकिंग में पकड़े गए तो 5 हजार रुपये तक जुर्माना लगना तय है।

प्रदेश के 76 जिलो से मुख्यालय पहुंचा बिना पंजीकृत वाहनों की सूची चौकाने वाली निकली। सबसे ज्यादा बगैर पंजीकृत वाहन Lucknow में पाए गए। जबकि दूसरे नंबर पर कानपुर व तीसरे पर Varanasi रहा। इन तीनों शहरों में वाहनों से निकलने वाला सबसे ज्यादा प्रदूषण लोगों को बिमार कर रहा है।

Leave a Comment