जाने आंगनवाड़ी मे योग्यता व मेरिट से जुड़ी डिटेल, पढ़े कुछ खास

प्रदेश में आंगनवाड़ी कार्यकर्त्रियों के लिए 50 हजार से ज्यादा पद खाली है. हाल ही में आंगनवाड़ी भर्ती प्रकिया के नियमों में बदलाव किया गया है. इसके तहत अब आंगनवाड़ी वर्कर्स के चयन के लिए बनने वाली चयन समिति में एक महिला अधिकारी का होना अनिवार्य कर दिया गया है|

साथ ही सेलेक्शन में जो मेरिट लिस्ट तैयार होगी उसमें पहली वरीयता गरीबी रेखा के नीचे जीवनयापन करने वाले परिवार के सदस्य को दी जाएगी| आंगनवाड़ी कर्मियों और सहायिकाओं के सेलेक्शन प्रोसेस में योग्ताओं को पहले की ही तरह रखा गया है|

ऐसे बनेगी मेरिट लिस्ट 
इन पदों पर सेलेक्शन मेरिट लिस्ट के आधार पर होगा. मेरिट लिस्ट बनाते समय 10वीं, 12वीं और स्नातक (Gradutaion) में मिले अंकों को जोड़ा जाएगा. वहीं, अगर आवेदक के पास ग्रेजुएशन के बाद भी कोई डिग्री है तो उसके अंको को जोड़ा नहीं जाएगा|

आयु सीमा 
इन पदों पर आवेदन करने वाले उम्मीदवार की आयु सीमा 21 से 45 वर्ष के बीच होनी चाहिए. जबकि सहायिका से आंगनवाड़ी कार्यकत्री पद पर चयन के लिए अधिकतम आयु सीमा 50 वर्ष निर्धारित की गई है. कार्यकत्री पद के लिए केवल वही महिलाएं आवेदन कर सकती हैं जिन्होंने पांच साल सहायिका के पद पर काम किया हो|

चयन प्रक्रिया (Selection Process)
एप्लीकेशन फॉर्म का प्रारूप एनआईसी द्वारा तैयार किया जाएगा. जिसे सभी जिलों को भेजा जाएगा. आवेदन प्रकाशित होने के बाद चयन प्रक्रिया 45 दिनों में पूरी की जाएगी|

प्रदेश में आंगनवाड़ी और मिनी केंद्र पर कार्यकर्त्रियों की नियुक्ति के लिए  उम्मीदवार को 10वीं परीक्षा या समकक्ष परीक्षा पास होनी चाहिए. वहीं, सहायिका पद (Assistant) के लिए न्यूनतम शैक्षिक योग्यता पांचवीं पास रखी गई हैै|

इन पदों पर केवल गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले लोगों का ही चयन किया जाएगा. आंगनबाड़ी कार्यकर्त्रियों के चयन के लिए शहरी क्षेत्रों में गरीबी की आय सीमा 56460 रुपये और ग्रामीण क्षेत्रों में गरीबी की आय सीमा 46080 रुपये निर्धारित की गई है|

Leave a Comment