जिलाधिकारी द्वारा देवीपुरा गौशाला का किया गया औचक निरीक्षण

पीलीभीत सूचना विभाग 07 सितम्बर 2020/जिलाधिकारी श्री पुलकित खरे द्वारा आज देवीपुरा गौशाला का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी द्वारा निराश्रित पशुओं हेतु चारा व्यवस्था, पीने के पानी, हराचारा, लाइट, साफ-सफाई व्यवस्था सहित अन्य व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान उप पशु चिकित्साधिकारी द्वारा अवगत कराया गया की गौशाला में 488 निराश्रित गौवंशों को आश्रित किया गया है।

निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी द्वारा खण्ड विकास अधिकारी को निर्देशित किया गया कि गौशाला के गोबर व गौमूत्र से उपयोगी गौ सामग्री का निर्माण आसपास गांव के स्वयं सहायता समूह की सहायता से कार्य करवाया जाए इस हेतु स्वयं सहायता समूहों का चयन कर उनको प्रशिक्षण प्रदान किया जाये, जिससे स्वयं सहायता समूहों को रोजगार व आय के साधन भी उपलब्ध हो सके।

इस दौरान डीसी मनरेगा को वर्मी कम्पोस्ट पिट बना कर खाद बनाने हेतु भी निर्देशित किया गया। निरीक्षण के दौरान चारागाह भूमि पर जलभराव की स्थिति होने के कारण खण्ड विकास अधिकारी को कड़े निर्देश देते हुए कहा कि पम्पसेट लगाकर पानी निकाल जाये और नैपीयर घास का उगाने की कार्यवाही जाये जिससे की पशु हेतु हरे चारे की उपलब्धता सुनिश्चित की जा सके।

इसके साथ ही साथ चारागाह में बने तालाब तक गौवंशों के जाने हेतु मार्ग का भी निर्माण कराया जाये, इसके साथ ही डीसी मनरेगा को चारागाह के चारों ओर पूर्व में खोदी गई खाई के किनारे किनारे तार फैसिंग का कार्य कराने हेतु निर्देशित किया गया।

निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी द्वारा भूसा कक्ष में भूसे की उपलब्धता का जायजा लेते हुये विगत माह में खरीदे गये भूसे व हरे चारे के बिल वाउचर की जांच की गई और साथ ही साथ गौशाला में प्रतिदिन आने वाले नये गौवंशों की ईयर टैगिंग की जांच की गई।

जांच के दौरान जिलाधिकारी द्वारा पूर्व बैठक में दिये गये निर्देशों के अनुसार समस्त व्यवस्थाऐं ठीकठाक पाई गई। इस दौरान गौशाला में खराब पड़ी सोलर लाईटों को ठीक कराने के निर्देश दिये गये।

इस दौरान उन्होंने कहा कि गठित समिति के माध्यम सेे पास के ग्रामों से ग्रामीण युवकों केयर टेकर के रूप में मानक के अनुसार चयन कर रोजगार प्रदान करने हेतु सम्बन्धित सचिव व ग्राम प्रधान आवश्यक कार्यवाही करना सुनिश्चित करें तथा नगर पालिका से लगे कर्मियों को ग्रामीण युवकों के चयन उपरान्त हटाने के निर्देश दिये गये।

इस दौरान जिलाधिकारी द्वारा गौशाला की साफ-सफाई व्यवस्था व पशुओं का नियमित स्वास्थ्य परीक्षण करने हेतु उप चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया गया।
निरीक्षण के दौरान उप जिलाधिकारी सदर श्री अविनाश चन्द्र मौर्य, परियोजना निदेशक श्री अनिल कुमार, डीसी मनरेगा श्री मृणाल सिंह, डिप्टी कलेक्टर श्रीमती अंजली गंगवार, उप पशु चिकित्साधिकारी, तहसीलदार सदर, खण्ड विकास अधिकारी सहित अन्य अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित रहे।

रिपोर्टर यूपी सिंह/मुकेश सक्सेना

Leave a Comment