दहेज के दानवों ने ली एक और नवविवाहिता की जान, जाने पूरा मामला

अम्बेडकर नगर
शादी के चार महिने के बाद ही दहेज के दानवों ने कार की मांग रखी और कार की मांग पूरी न होने पर दहेज के दानवों ने नवविवाहिता की जान ले ली। मौत की सूचना पाकर भागते हुए पिता बेटी की ससुराल पहुंचा तो बेटी का शव देखकर पैरो तले जमीन खिसक गई और दहाड़ मारकर रोने लगा। जो पिता बेटी को चार महिने पहले अपने घर से खुशी खुशी विदा किया था, आज उसी अभागे पिता को बेटी का शव लेकर कोतवाली जाना पड़ा है। टांडा कोतवाली क्षेत्र ग्राम ब्राहिमपुर कुसमा का है। विवाहिता की लाश पुलिस ने अपने कब्जे में लेकर नामित मजिस्ट्रेट नायब तहसीलदार देवानंद तिवारी से पंचायत नामा भरवाकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। घटनास्थल का निरीक्षण सीओ टांडा अमर बहादुर,कोतवाल संजय पांडे ने किया।

दहेज के लिए दिन रात ससुराल वाले बेटी को करते थे प्रताड़ित

मृतका नवविवाहिता के पिता अच्छे राम धुरिया पुत्र सीताराम निवासी ग्राम बढोना डीह पांड़े बाबा थाना मोतिगरपुर सुल्तानपुर ने बताया कि मैंने अपनी पुत्री आकांक्षा उम्र लगभग 20 वर्ष का विवाह विकास गौड़ पुत्र रतिपाल गौड़ निवासी ब्राहिमपुर कुसमा थाना कोतवाली टांडा के साथ 16फरवरी 2020 को किया था। शादी में हैसियत मुताबिक दान दहेज के साथ साथ तीन लाख रुपये नगद भी दिया था। फिर भी मेरी बेटी के ससुराल वाले एक ऑल्टो कार औल एक लाख रुपये नगद की मांग लगातार कर रहे थे, जिसको लेकर मेरी बेटी को प्रताड़ित करते रहते थे।

शादी के बाद मेरी बेटी दूसरी बार विदा होकर 4 मई 2020 को अपने ससुराल पहुंची और दहेज की मांग को लेकर ससुराल के लोगों को समझाया बुझाया गया था, लेकिन रविवार को सुबह लगभग 9 बजे आकांक्षा के ससुराल वालों ने फोन किया कि आपकी लड़की की हालत खराब है। जब आकांक्षा के पिता व परिवार के लोग ग्राम ब्राहिम पुर कुसमा पहुंचे तो आकांक्षा का शव एक तख्ते पर रखा मिला।

मृतका के परिवारीजन शव को अपनी कार में रखकर कोतवाली टांडा लेकर पहुंचे और मृतका के पति सास, ननद,देवर के विरूद्ध दहेज हत्या की कोतवाली में तहरीर दी। मृतका का पति पशु चिकित्सालय टांडा में वैक्सिनेटर के पद पर कार्यरत है। इस मामले में सीओ ने बताया कि दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।

रिपोर्टर बीपी पाण्डेय

Leave a Comment