नई दिल्ली

दिल्ली के मयूर विहार मे 200 कौओं की मौत, पार्क हुई आम लोगो के लिए बंद

Above Article

देश में ‘बर्ड फ्लू के खतरे के बीच राजधानी दिल्ली के मयूर विहार फेज-3 स्थित सेंट्रल पार्क में पिछले कुछ दिनों अब तक लगभग 200 कौवों की यहां मौत हो चुकी है।

पार्क में फिलहाल सैनिटेशन अभियान चलाए जा रहे हैं और इसे आम लोगों के लिए बंद कर दिया गया है। कल अधिकारियों द्वारा पांच कौवों के शवों को टेस्ट के लिए जालंधर भेजा गया है।

मयूर विहार में सेंट्रल पार्क के केयर टेकर टिंकू चौधरी ने बताया कि पिछले 1 हफ्ते में 150-200 कौवों की मौत हो गई। हम पार्क में किसी को नहीं आने दे रहे हैंं। आज भी 15-16 कौवों की मौत हुई है। जांच के लिए मृत कौवों के सैंपल्स भेज दिए गए हैं।

मामला प्रकाश में आते ही उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के निर्देश पर मयूर विहार फेज तीन के सेंट्रल पार्क में क्विक रिस्पॉन्स टीम को भेजा गया।

बयान में कहा गया कि पार्क में 17 कौवे मृत पाए गए और चार नमूने एकत्र किए गए। शेष मृत पक्षियों को जमीन के अंदर गहराई में दफना दिया गया। डीडीए पार्क, द्वारका में दो कौवे मृत पाए गए और एक नमूना वहां से एकत्र किया गया।

इससे पहले, पशुपालन विभाग के एक अधिकारी ने कहा था कि हमें द्वारका और मयूर विहार फेज-तीन तथा पश्चिमी दिल्ली के हस्तसाल गांव से कौवों की मौत की सूचना मिली है, लेकिन अभी इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि क्या ये मौतें बर्ड फ्लू संक्रमण से हुई हैं।

उपमुख्यमंत्री सिसोदिया ने गुरुवार को कहा था कि शहर में अभी तक बर्ड फ्लू का कोई मामला नहीं है और अधिकारियों को पड़ोसी राज्यों से आने वाले पोल्ट्री पक्षियों पर नजर रखने को कहा गया है ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।

अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली में संभावित हॉट स्पॉट पर नजर रखने के लिए 11 क्विक रिस्पॉन्स टीमें गठित की गई हैं। सिसोदिया ने मुर्गी बाजारों, जलाशयों, चिड़िया घरों और अन्य संभावित जगहों पर नजर रखने को कहा है। इनमें गाजीपुर मछली और मुर्गी बाजार, शक्ति स्थल झील, संजय झील, भलस्वा झील, दिल्ली चिड़िया घर और डीडीए के पार्कों में बने छोटे-छोटे तालाब शामिल हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button