नियम का पालन करना सिर्फ जनता के लिए, आखिर ऐसा क्यो

 

कोविड-19 चालान, दुपहिया पर हेलमेट चालान और कार में सीटबेल्ट चालान सिर्फ जनता के लिए है|पुलिस विभाग के कर्मचारी तो खुद में ही भगवान बन बैठे हैं|

जी हां गंगाघाट पुलिस रोजाना शाम को राजमार्ग पर ऋषि नगर मोड़ के पास लगाती है वाहन चेकिंग और घर से सब्जी, दूध, दवाई लेने निकले जनता तो हेलमेट लगाकर ही निकले जनता, वरना होगा चालान|

गंगाघाट पुलिस का यह रवैया आम जनता को परेशान कर चुका है|जहां पुलिसकर्मी सिर्फ राहगीरों, वाहन सवारों को नियम सिखाते है, लेकिन उन्हीं नियमो को खुद पर लागू करने के लिए कोई प्रश्न करे तो खाकी की हूल देते हैं|

दो दिवसीय लॉकडाउन में यह पुलिसकर्मी खाकी का असर इस तरह दिखा रहे हैं कि इन पर किसी का कोई दबाव नहीं ड्यूटी पर तैनात बेखौफ सिपाही बिना मास्क लगाए अपने कर्तव्य का वहन कर रहा है|

वहीं अगर किसी आमजनमानस ने यह भूल की होती तो होता कोविड-19 के तहत चालान ऐसे कई प्रमाण रोजाना जाहिर किए जा सकते हैं, जिनमे खाकी और आमजनमानस के बीच का अंतर का प्रमाण दे सकते है|

यदि पुलिसकर्मी बिना हेलमेट के वाहन चलाए तो स्टाफ से है, यदि आमजनमानस बिना हेलमेट के घर के बाहर भी वाहन लेकर निकले तो नियमो का उल्लंघन|

निवेदन – यह पोस्ट सिर्फ इसलिए है कि अधिकारीगण इसे संज्ञान में लें और सिर्फ आम जनता के लिए ही नियमों को न बनाए, गंगाघाट कोतवाली क्षेत्र में इन दिनों रोजाना ही यह रवैया चल रहा है|

रिपोर्टर अन्नू खान

Leave a Comment