पंजाबी एक्टर दीप सिद्धू पर 1 लाख का इनाम घोषित, पढ़े पूरी खबर

गणतंत्र दिवस पर 26 जनवरी के दौरान दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर दिल्ली पुलिस अब बड़ी और निर्णायक तैयारी में जुट गई है। इस बाबत पुलिस ने बड़ा फैसला लेते हुए दीप सिद्धु समेत दिल्ली हिंसा में आरोपित 8 आरोपित पर इनाम घोषित किया है। दीप सिद्धू, जुगराज सिंह, गुरजोत सिंह और 1 लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया है।

वहीं, Delhi Police ने अन्य आरोपितों जयबीर सिंह, बूटा सिंह, सुखदेव सिंह और इकबाल सिंह पर 50,000 रुपये का इनाम घोषित किया है। यहां पर  भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण की तरफ से भी ट्रैक्टर परेड की आड़ में उपद्रव करने के मामले में मुकदमा दर्ज कराया गया है।

इसमें लाल किले में उपद्रवियों द्वारा ऐतिहासिक इमारत में तोड़फोड़ करने के साथ ही गुंबद का कलश लूटे जाने का आरोप लगाया गया है।

एएसआइ के अधीक्षक गुंजन कुमार श्रीवास्तव ने कोतवाली थाने में यह मुकदमा दर्ज कराया है। इसमें कहा है कि गणतंत्र दिवस के दिन ट्रैक्टर और मोटरसाइकिल पर सवार करीब 300 उपद्रवियों ने लाल किला के अंदर जमकर उत्पात मचाया था।

उपद्रवियों के आते ही लाल किले का लाहौरी गेट बंद कर दिया गया था। वहीं, सीआइएसएफ व पुलिसकíमयों की टीम अंदर से स्थित पर नजर रख रही थी। इसी बीच उपद्रवी गेट पर चढ़कर दूसरी और कूदने लगे थे।

वहीं, तीसरे प्रयास में गेट तोड़कर अन्य लोग अंदर प्रवेश करने में सफल हो गए थे। इसके बाद उन्होंने पुलिस द्वारा बैरिकेड के रूप में खड़ी की गई बस में तोड़फोड़ करते हुए किले में तोड़फोड़ शुरू कर दी थी। उपद्रवी हथियार, तलवार और लाठी डंडे से लैस थे। ऐसे में सुरक्षाकर्मी उन्हें रोक नहीं सके।

इसके बाद छोटे गेट को तोड़कर वे अंदर पहुंच गए और लाइटिंग व भवन में तोड़फोड़ करते हुए लाल किले की प्राचीर पर चढ़ गए। वहां उन्होंने केसरिया झंडा फहराया और गुंबदों पर लगे धातु के दो कलश लूटकर ले गए।

वहीं, उपद्रवियों का एक समूह नौबत खाने में पहुंच गया और वहां जमकर तोड़फोड़ भी की थी। अतिरिक्त पुलिस बल के आने पर शाम पांच बजे लाल किले के अंदर से उपद्रवियों को निकाला गया।

Leave a Comment