पेट्रोल 100 रुपये होने पर पीएम मोदी का आया पहला बयान

देश में पेट्रोल की खुदरा कीमत 100 रुपये प्रति लीटर होने वाले दिन, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कहा कि मध्‍यम वर्ग पर इतना अधिक बोझ नहीं पड़ता यदि पूर्व की सरकारें भारत की ऊर्जा आयात निर्भरता को कम करने पर ध्‍यान देती।

ईंधन की खुदरा कीमतों में लगातार हो रही वृद्धि का उल्‍लेख किए बगैर पीएम मोदी ने कहा कि भारत ने 2019-20 में अपनी कुल जरूरत का 85 प्रतिशत तेल, 53 प्रतिशत प्राकृतिक गैस का आयात किया।

तमिलनाडु में तेल-गैस परियोजना कार्यक्रम के उद्घाटन समारोह में बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि भारत ऊर्जा क्षेत्र में आयात पर निर्भरता में कमी लाने पर ध्यान दे रहा है। उन्‍होंने कहा कि भारत 2030 तक अपनी कुल ऊर्जा का 40 प्रतिशत नवीकरणीय स्रोतों से उत्पादन करेगा।

बुधवार को लगातार नौवें दिन मूल्‍यवृद्धि के बाद राजस्‍थान में पेट्रोल की खुदरा कीमत 100 रुपये प्रति लीटर से अधिक हो गई है। मोदी ने कहा कि उनकी सरकार मध्‍यम वर्ग के लिए संवेदनशील है और इसलिए पेट्रोल में इथेनॉल मिश्रण की मात्रा बढ़ाने पर अपना ध्‍यान दे रही है।

इथेनॉल गन्‍ने से प्राप्‍त होता है, जो आयात कम करने में मदद करेगा और साथ ही साथ किसानों को आय के अन्‍य साधन भी उपलब्‍ध कराएगा।

पीएम मोदी ने कहा कि भारत ऊर्जा आयात निर्भरता को कम करने के साथ ही साथ जोखिम को कम करने के लिए अपने स्रोतों में भी विविधता ला रहा है। उन्‍होंने कहा कि अब हमारा ध्‍यान नवीनीकृत ऊर्जा का अधिक इस्‍तेमाल करने पर है, 2030 तक देश में पैदा होने वाली कुल ऊर्जा में 40 प्रतिशत हिस्‍सेदारी नवीनीकृत ऊर्जा स्रोतों की होगी।

Leave a Comment