बखरियाडीह बांध पर आयोजित किया गया शहीद रामानुज का 37 वां श्रद्धांजलि सभा

 

बलिया : रामानुज का जीवन शोषण, अन्याय के खिलाफ एवं पीडि़त मानवता की सेवा एवं क्षेत्र के सर्वांगीण विकास के लिये समर्पित रहा। वे सुखी समाज के सृजन के लिये शहीद रामानुज जीवन पर्यन्त संघर्ष करते रहे और उसके लिये अपने प्राणों की कुर्बानी भी दे दी।

ऐसे महान विभूति शहीद रामानुज के आदर्शो पर चलना ही उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी। उपर्युक्त उद्गार क्रांतिकारी स्मारक समिति के संरक्षक एवं इंडिया क्रांतिकारी वामपंथी मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष सीबी सिंह ने प्रधानपुर गांव स्थित बखरियाडीह बांध पर शहीद रामानुज के 37 वें शहादत दिवस पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा मे बतौर मुख्य अतिथि अपने सम्बोधन में व्यक्त किया।

उन्होंने कहां की शहीद रामानुज व्यक्ति नहीं, विचार थे। जिस प्रकार से आज लोकतंत्र में राजनीतिक दल अपने मिशन से भटक गए हैं। उनके विचारों पर चलकर ही लोकतंत्र को बचाया जा सकता है।

श्रद्धांजलि सभा को नगर पालिका बलिया के पूर्व अध्यक्ष लक्ष्मण गुप्ता, पूर्व प्रधान राम प्रताप सिंह, पत्रकार रमाकांत सिंह, प्रधान हरिंदर यादव, एडवोकेट इंद्रदेव यादव, डॉ. शीतल प्रसाद गुप्ता, श्याम नारायण यादव गांधीजी, संदीप सोनी, रिंकू सिंह, हीरा प्रसाद, कृष्णानंद पांडेय, सपानेता पुरूषोत्तम यादव, चंद्रशेखर सिंह, शारदानंद पासवान, अशोक कुमार गुप्ता, अश्वनी कुमार, अवधेश तिवारी आदि ने भी शहीद रामानुज के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी व अपने विचार व्यक्त किए।

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे वरिष्ठ कांग्रेसी नेता विजय बहादुर सिंह ने कहा कि शहीद रामानुज का बलिदान हमे आप सभी को सच्चाई के लिये लड़ने की प्रेरणा देती है। ऐसे व्यक्ति को महापुरूष की संज्ञा स्वयं मिल जाती है। संचालन व आभार कार्यक्रम के संयोजक ग्राम प्रधान राधेश्याम यादव ने किया।

रिपोर्ट जितेन्द्र यादव

Leave a Comment