बड़ी खबर: स्‍वास्‍थ्‍य क्षेत्र में निर्मला सीतारमण ने की बड़ी घोषणाएं, पढ़े पूरी खबर

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण सोमवार को 2021-22 का आम बजट पेश किया। यह राजग-2 का तीसरा बजट है। कोरोना संकट के बीच आने वाले इस बजट में हेल्थ सेक्टर को काफी प्राथमिकता दी गई है।

इस बजट में उन उपायों को किए जाने की दरकार थी जिनका अगले दो-तीन वर्षों में स्‍वास्‍थ्‍य के क्षेत्र में जमीनी असर नजर आए। आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 में भी उन उपायों की ओर ध्‍यान दिलाते हुए स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र का बजट बढ़ाए जाने की सिफारिश की गई थी।

2021-22 का बजट 6 स्तंभों पर टिका है। पहला स्तंभ है स्वास्थ्य और कल्याण, दूसरा-भौतिक और वित्तीय पूंजी और अवसंरचना,तीसरा-अकांक्षी भारत के लिए समावेशी विकास, मानव पूंजी में नवजीवन का संचार करना,पांचवा-नवाचार और अनुसंधान और विकास, छठा स्तंभ-न्यूनतम सरकार और अधिकतम शासन।

पब्लिक हेल्‍थ के लिए वेबसाइट की शुरुआत। कोविड वैक्‍सीन के लिए 35 हजार करोड़ का एलान…  वित्‍त मंत्री ने कहा कि मैंने वर्ष 2021-22 में कोरोना वैक्सीन के लिए 35,000 करोड़ रुपये मुहैया कराए हैं। अगर आगे भी जरूरत पड़ती है तो मैं फंड मुहैया कराने के लिए प्रतिबद्ध हूं।

भारत में कोविड-19 के दो वैक्सीन उपलब्ध हैं। वित्‍त मंत्री सीतारमण ने कहा कि आने वाले समय में हम और वैक्सीन की उम्मीद कर सकते हैं। भारत दुनिया के उन देशों में शामिल हैं, जहां कोरोना की वजह से मृत्युदर बहुत कम है।

वित्‍त मंत्री ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने वैज्ञानिकों को श्रेय देते हुए टीकाकरण अभियान का शुभारंभ किया था। हमने कोविड-19 के विरूद्ध नागरिकों को चिकित्सा की दृष्टि से सुरक्षित करना शुरू किया, जिसकी बदौलत आज भारत के पास दो कोरोना वैक्सीन उपलब्ध है। हमने वैक्‍सीन से दूसरे देशों की भी मदद की है। हमने 100 या उससे भी अधिक देश के लोगों को कोविड के विरूद्ध सुरक्षा मुहैया कराई।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि भारत में बनी न्यूमोकोकल वैक्सीन अभी सिर्फ 5 राज्यों तक सीमित है, इसे पूरे देश में लागू किया जाएगा। इससे वर्ष में 50,000 से ज़्यादा बच्चों की मौत को रोका जा सकेगा।

– 64,180 करोड़ के साथ एक नई केंद्र प्रायोजित योजना पीएम आत्‍मर्निभर स्वच्छ भारत योजना शुरू की जाएगी। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि शहरी स्वच्छ भारत मिशन 2.0 की शुरुआत होगी। शहरी स्वच्छ भारत मिशन 2.0 को 2021-2026 से 5 वर्ष की अवधि में 1,41,678 करोड़ रूपए के कुल वित्तीय आवंटन से कार्यान्वित किया जाएगा।

वित्त मंत्री ने कहा कि स्‍वस्‍थ्‍य भारत हमारा मंत्र, नई बीमारियों पर रहेगा हमारा फोकस रहेगा। शहरी स्वच्छ भारत मिशन 2.0 पर एक लाख 41 हजार करोड़ रुपए खर्च होंगे। अगले पांच साल में दो हजार करोड़ रुपए स्‍वच्‍छ हवा पर खर्च होंगे।

– 602 ब्‍लॉक में क्रिटिकल केयर अस्‍पताल बनेंगे! वित्‍त मंत्री ने बताया कि पोषण पर फोकस किया जाएगा। न्यूट्रीशन 112 अस्परेशनल जिलों में इस पर खास ध्यान दिया जाएगा।

 

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि वर्ष 2021-22 में स्वास्थ्य और परिवार कल्याण पर 2,23,846 करोड़ खर्च होंगे।

– आत्‍मनिर्भर स्‍वास्‍थ्‍य सेवा की शुरुआत होगी!  वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि केंद्र की एक नई योजना प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना लॉन्च की जाएगी, इस योजना पर 6 वर्षों में क़रीब 64,480 करोड़ खर्च होगा।

– वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि सरकार की ओर से WHO के स्थानीय मिशन को भारत में लॉन्च किया जाएगा। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण के लिए इस वर्ष के बजट से अनुमान 94,452 करोड़ रूपये की तुलना में 2021-22 में 2,23,846 करोड़ रुपये आवंटित होंगे।

 

जल जीवन मिशन लॉन्च किया जाएगा, इसका उद्देश्य 4,378 शहरी स्थानीय निकायों में 2.86 करोड़ घरेलू नल कनेक्शनों को सर्वसुलभ जल आपूर्ति व्यवस्था करना है।

हेल्‍थकेयर के लिए कुल 2.23 लाख करोड़ का एलान। वित्त मंत्री ने कहा कि 35 हजार करोड़ कोविड वैक्सीन के लिए आवंटित किए गए हैं। जरूरत पड़ने पर और फंड दिया जाएगा। हेल्थ बजट कुल दो लाख 32 हजार करोड़ रुपए का है। पिछली बार यह बजट 92 हजार करोड़ का था। इस बार इसमें 137 फीसदी की बढोतरी हुई है।

Leave a Comment