बीएसएनएल के इस सॉफ्टवेयर से माता-पिता अपने बच्चों पर रख सकेंगे नजर

टेक्नोलॉजी के रेस में में बच्चे पढ़ाई भी इंटरनेट पर कर रहे हैं। ऐसे में इंटरनेट प्रयोग के दौरान कई अश्लील और खतरनाक ऑनलाइन गेम की वेबसाइट भी खुल जाती हैं जो बच्चों के लिए घातक साबित हो सकती हैं। बच्चों को लेकर माता-पिता की यह चिंता अब भारत संचार निगम लिमिटेड का पैरेंटल कंट्रोल साफ्टवेयर दूर करेगा। अब आप अपने बच्चों को इंटरनेट का कनेक्शन बिना किसी भय या संकोच के उपलब्ध करा सकेंगे।

बीएसएनएल का पैरेंटल कंट्रोल साफ्टवेयर इंटरनेट के प्रयोग के दौरान अश्लील वेबसाइट और खतरनाक गेम्स के लिंक को ब्लाक कर देगा। अभिभावकों के लिए खासतौर पर बने इस साफ्टवेयर से अभिभावक बच्चों की सर्फिंग का समय तय कर सकेंगे। इसके साथ ही बच्चे क्या देखें और क्या न देखें इसका भी निर्णय अभिभावक कर पाएंगे। फिलहाल इस साफ्टवेयर के लिए अभिभावकों को कोई भुगतान नहीं करना होगा।

इस साफ्टवेयर को डाउनलोड करने के लिए आपको बीएसएनएल के साइट पर जाना होगा। पैरेंटल कंट्रोल साफ्टवेयर टाइप करते ही साफ्टवेयर खुल जाएगा। इसको डाउनलोड करने के साथ ही प्रयोग करने का तरीका भी मिल जाएगा। साफ्टवेयर डाउनलोड होने के बाद अभिभावक पासवर्ड डालकर इसे बंद कर सकते हैं। जिसके बाद अश्लील वेबसाइट, खतरनाक गेम्स के लिंक नहीं खुलेंगे। अभिभावक बच्चों को जरूरत के हिसाब से स्मार्ट फोन, लैपटॉप और हाई स्पीड इंटरनेट वाला अनलिमिटेड प्लान दिला सकते हैं।

एंड्रायड मोबाइल के प्ले स्टोर पर सेक्योर टीन पैरेंटल कंट्रोल, सेफ ब्राउजर पैरेंटल कंट्रोल एंड वेबसाइट्स फिल्टर, पैरेंटल कंट्रोल, नार्टन फैमिली पैरेंटल कंट्रोल जैसे दर्जनों एप आपको मिल जाएंगे। हालांकि ये कितने मुफीद होंगे, इन्हें डाउनलोड करने के बाद ही पता चलेगा। पैरेंटल कंट्रोल साफ्टवेयर बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई को पूरी तरह सुरक्षित करेगा। गलत साइट्स खुलने का अभिभावकों का डर पूरी तरह खत्म हो जाएगा।

Leave a Comment

x