बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय हत्याकांड का वॉन्टेड शूटर राकेश पांडेय एनकाउंटर में ढेर

भारतीय जनता पार्टी विधायक कृष्णानंद राय हत्याकांड में आरोपी इनामी बदमाश को यूपी पुलिस ने एक एनकाउंटर में ढेर कर दिया है। आरोपी का नाम राकेश पांडेय है।

सुबह पांच बजे के करीब सरोजनीनगर थाने से चंद कदम दूरी कैप्टन मनोज पांडेय चौराहे पर पुलिस ने आरोपित राकेश पांडेय की कार पर पीछे से हिट किया। जिससे उसकी कार डिवाइडर पर जा लड़ी। कार में शूटर राकेश पांडेय के साथ चार लोग और बैठे थे। कार से निकलकर राकेश पांडेय ने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू दी। जवाबी कार्रवाई  में पुलिस ने भी उस पर गोली चलाई। जिससे वो मौके पर ही गिर गया। शूटर राकेश पांडेय के सीने में गोली लगी। आनन-फानन उसे लोहिया अस्पताल ले जाया गया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।


उस पर एक लाख रुपये का इनाम था। राकेश पांडेय मुख्तार अंसारी और मुन्ना बजरंगी का करीबी था। लखनऊ के सरोजनीनगर में STF ने राकेश पांडेय का एनकाउंटर किया। मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद राकेश पांडेय मुख्तार अंसारी गैंग का बड़ा शूटर बन गया था।

मऊ के कोपागंज का रहने वाला राकेश पांडेय कई सनसनीखेज वारदातों में शामिल था। मऊ में ठेकेदार अजय प्रकाश सिंह उर्फ मन्ना सिंह और अन्य की दोहरे हत्याकांड में भी मुख्तार अंसारी के साथ राकेश पांडेय आरोपी था। एनकाउंटर में मारे गए इनामी बदमाश राकेश पांडेय का लंबा आपराधिक इतिहास रहा है। राजधानी लखनऊ सहित रायबरेली, गाजीपुर व मऊ में 10 मुकदमे गंभीर धाराओं में पंजीकृत हैं।


इस हत्याकांड में बाहुबली मुख्तार अंसारी का नाम सामने आया था। करीब आधा दर्जन बदमाशों ने बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय और उनके 6 अन्य साथियों को गोलियों से भून दिया था। हमलावरों ने 6 एके-47 राइफलों से 400 से ज्यादा गोलियां चलाई थीं। इस हमले में मारे गए सात लोगों के शरीर से 67 गोलियां बरामद की गई थीं।

इस हमले का एक महत्वपूर्ण गवाह शशिकांत राय 2006 में संदिग्ध परिस्थितियों में मृत पाया गया था। उसने कृष्णानंद राय के काफिले पर हमला कराने का आरोप मुख्तार अंसारी और मुन्ना बजरंगी पर लगाया था। इस हत्याकांड ने यूपी की सियासत में भूचाल ला दिया था।

रिपोर्ट जितेन्द्र यादव

Leave a Comment