नई दिल्ली

भारतीय चुनाव आयोग ने डिजिटल वोटर आईडी कार्ड की सुविधा की शुरू

Above Article

25 जनवरी को राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर भारतीय चुनाव आयोग ने डिजिटल वोटर आईडी कार्ड की सुविधा शुरू की। इसे इलेक्ट्रॉनिक इलेक्टोरल फोटो आइडेंटिटी कार्ड कहा जाता है।

यह डिजिटल वोटर आईडी कार्ड पीडीएफ प्रारूप में उपलब्ध होगा। ई-ईपीआईसी केवल ई-आधार की तरह है। इसे सिर्फ प्रिंट किया जा सकता है। इसको एडिट नहीं किया जा सकता है।

31 जनवरी तक यह सुविधा केवल उन्हीं को मिलेगी जिन्होंने पिछले साल नवंबर और दिसंबर में वोटर आईडी कार्ड के लिए आवेदन किया हो। एक फरवरी से, डिजिटल वोटर आईडी कार्ड सभी के लिए उपलब्ध होगा।

इसके अलावा, जिन लोगों के वोटर आईडी कार्ड खो गए हैं वे मुफ्त में डुप्लिकेट कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं। वर्तमान में, इसके लिए 25 रुपए का शुल्क लिया जाता है | 25 जनवरी, 1950 को गठित चुनाव आयोग की स्थापना दिवस के अवसर पर डिजिटील वोटर आईडी कार्ड की शुरुआत की गई है।

1. voterportal.eci.gov.in पर जाएं। संबंधित विवरण दर्ज करके एक अकाउंट बनाएं।

2. अकाउंट बनाने के बाद लॉग इन करें। “ई-ईपीआईसी डाउनलोड करें” के मेन्यू पर जाएं।

3. अपना ईपीआईसी नंबर या रेफरेंस नंबर दर्ज करें। आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी भेजा जाएगा।

4. इसके बाद अब “ईपीआईसी डाउनलोड करें” पर क्लिक करें। यदि कार्ड पर उल्लिखित मोबाइल नंबर अलग है तो आपको कार्ड डाउनलोड करने के लिए नो योर कस्टमर प्रक्रिया को पूरा करना होगा ।

5. केवाईसी के जरिए नंबर अपडेट करने के बाद आप डिजिटल वोटर आईडी कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं।

6. यदि आपने अपना ई-ईपीआईसी नंबर खो दिया है, तो आप इसके लिए voterportal.eci.gov.in पर चेक कर सकते हैं।

7. डिजिटल वोटर आईडी कार्ड को वोटर मोबाइल ऐप से भी जनरेट किया जा सकता है, जिसे गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button