मध्य प्रदेश मे आया बर्ड फ्लू का खतरा, पढ़े पूरी खबर

Central Goverment ने बुधवार को चार राज्यों में बर्ड फ्लू के मामलों की पुष्टि की। ये चार राज्य राजस्थान, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और केरल  हैं।

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद-नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हाई-सिक्योरिटी एनिमल डिसीज द्वारा इन राज्यों के नमूनों का परीक्षण किए जाने के बाद मंत्रालय को इसकी जानकारी दी।

एक आधिकारिक बयान में, मंत्रालय ने कहा कि राजस्थान में, बारन, कोटा और झालावाड़ जिले में कौवों में बर्ड फ्लू पाया गया है। वहीं मध्य प्रदेश के मंदसौर, इंदौर और मालवा जिलों में भी कौवे में इस बीमारी की पुष्टि हुई है।

हिमाचल प्रदेश में, कांगड़ा में प्रवासी पक्षियों में बर्ड फ्लू की सूचना है, जबकि केरल में कोट्टायम और अल्लापुझा जिलों में पोल्ट्री-बत्तख में इसकी सूचना है।

मंत्रालय ने कहा कि 1 जनवरी, 2021 को राजस्थान और मध्य प्रदेश को एक एडवाइजरी जारी की गई थी, ताकि संक्रमण को और अधिक फैलने से बचाया जा सके। केंद्र सरकार ने राज्यों से जानकारी लेने के दिल्ली में कंट्रोल रूम स्थापित किया है।

मध्य प्रदेश में में दक्षिण भारत के राज्यों से मुर्गे के व्यापार पर कुछ समय के लिए रोक लगा दी गई है। कई राज्यों ने बर्ड फ्लू के H5N8 स्ट्रेन को नियंत्रित करने को लेकर चेतावनी जारी की है और मरे हुए पक्षियों के नमूने जांच के लिए भेजे हैं।

वहीं केरल में मुर्गियों और बत्तखों को मारना शुरू कर दिया गया है। पड़ोसी राज्य की स्थिति को देखते हुए कर्नाटक और तमिलनाडु ने निगरानी बढ़ा दी है और इसे लेकर जरूरी दिशानिर्देश जारी कर दिए हैं।

केरल के कोट्टायम की डीसी एम अंजना ने कहा है कि नीन्दूर पंचायत में बत्तखों में बर्ड फ्लू पाया गया है। क्षेत्र के सभी 10,000 पक्षियों को मारा होगा। मनुष्यों में इसके लक्षणों का पता लगाने के लिए परीक्षण करने की प्रक्रिया भी शुरू की गई है।

Leave a Comment