राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने किया पीएम मोदी स्टेडियम का उद्घाटन, जाने क्या है खासियत

भारत और इंग्लैंड के बीच अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में चार मैचों की टेस्ट सीरीज का तीसरा मुकाबला अब से कुछ देर में शुरू होने वाला है। इस मैच के शुरू होने से पहले देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की विशेष उपस्थिति में इस स्टेडियम का उद्धाटन किया। खास बात यह है कि अब इस स्टेडियम को पीएम नरेंद्र मोदी के नाम पर जाना जाएगा।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने स्टेडियम का उद्घाटन गृहमंत्री अमित शाह और खेल मंत्री किरन रिजिजू की मौजूदगी में किया। उद्घाटन के बाद अमित शाह ने कहा, ‘हमने इसका नामकरण देश के प्रधानमंत्री के नाम पर करने का फैसला किया है। यह मोदीजी का ड्रीम प्रोजेक्ट था।’

इस स्टेडियम की खासियत यह है कि एक सात 1 लाख 32 हजार दर्शक बैठ सकते हैं। यह स्टेडियम 63 एकड़ में फैला हुआ है और करीब 800 करोड़ रुपये की लागत से बना है। यह स्टेडियम ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड से भी बड़ा है जहां 90 हजार लोगों के बैठने की क्षमता है।

यह स्टेडियम कितना बड़ा है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि ओलिंपिक के 32 फुटबॉल ग्राउंड को मिलाकर यह अकेला स्टेडियम है।

साल 2015 में मरम्मत के काम के लिए यह स्टेडियम बंद कर दिया गया था लेकिन यह स्टेडियम कई ऐतिहासिक पलों का गवाह रहा है। यह वही मैदान है जहां सुनील गावस्कर ने सन् 2987 में पाकिस्तान के साथ मैच के दौरान टेस्ट क्रिकेट में अपने 10 हजार रन पूरे किए थे।

कपिल देव ने भी अपने करियर का 432वां टेस्ट विकेट यहीं लिया था जिसके बाद वह सन् 1994 में दुनिया के सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बन गए थे।

स्टेडियम को लार्सन एंड टर्बो  कंपनी ने बनाया है जिसने 5 सालों की बहुत कम अवधि में स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का निर्माण किया था।

स्टेडियम में छह लाल और पांच काली मिट्टी की कुल 11 पिचें तैयार की गई हैं। मुख्य और अभ्यास पिचों के लिए दोनों मिट्टी का उपयोग करने वाला यह पहला स्टेडियम है। बारिश की स्थिति में, पिच को केवल 30 मिनट में सुखाया जा सकता है। अत्याधुनिक एलईडी फ्लडलाइट से वातावरण गर्म नहीं होगा और दर्शकों के साथ-साथ क्रिकेटरों को भी आराम मिलेगा।

Leave a Comment