राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 152वीं जयंती को खूब धूमधाम से मनाया गया

गांधी जयंती पर पहल विकलांग पुनर्वास केन्द्र समिति में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 152वीं जयंती खूब धूमधाम से मनाई गई। साथ ही मुख्य अतिथि सांसद मा. सत्यदेव पचौरी जी ने रिबन काट कर पहल केंद्र के नए प्रांगण का शुभारंभ भी किया।

पहल विकलांग पुनर्वास केंद्र समिति के लिए आज शुक्रवार 2 अक्टूबर 2021 को दो-दो खुशी के मौके थे, पहला अपने नए केंद्र का शुभारंभ और दूसरा, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जयंती समारोह। इस अवसर पर मुख्य अतिथि सांसद मा. सत्यदेव पचौरी जी ने रिबन काट कर पहल केंद्र के ‘बाल निकुंज, स्वरूप नगर’ स्थित नए प्रांगण का शुभारंभ किया।

फिर केंद्र में गांधी जयंती समारोह का आयोजन किया गया। इस दौरान पूरे केंद्र को फूलों और गुब्बारों से सजाया गया। मुख्य अतिथि ने राष्ट्रपिता के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उनको श्रद्धांजलि दी और गांधी जी के संघर्ष और सत्य-अहिंसा के बारे में बच्चों को बताया।
राज्य स्तरीय सम्मान से पुरुस्कृत पहल विकलांग पुनर्वास केंद्र समिति की सचिव शैली शर्मा ने बच्चों को गांधी जी के अहिंसा आंदोलन, असहयोग आंदोलन, सत्याग्रह आदि के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के द्वारा दिखाए शांति एवं सत्य अहिंसा के मार्ग पर ही हम सबको चलना चाहिए।

कुछ छोटे छोटे दिव्यांग बच्चे गांधी जी का रूप में सज कर आए थे। बच्चों ने नृत्य व गायन प्रस्तुति भी दी। अंत में मुख्य अतिथि ने बच्चों को मिष्ठान, टॉफी आदि वितरित किया। इस दौरान पहल विकलांग पुनर्वास केंद्र समिति के अध्यक्ष डॉ विशाल शर्मा, प्रधानाचार्या वंदना राठौर, संयोजक राजेंद्र अवस्थी सहित समस्त स्टाफ मौजूद रहा।

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा दिव्यांगजन के निमित्त कार्यरत सर्वश्रेष्ठ संस्था के राज्य स्तरीय सम्मान से पुरुस्कृत पहल विकलांग पुनर्वास केन्द्र समिति दिव्यांगों से जुड़ी सभी गतिविधियों का एक महत्वपूर्ण केंद्र है।

पहल समाज कल्याण के कार्यों में भी खूब बढ़-चढ़कर हिस्सा लेता है। इस केंद्र का मुख्य उद्देष्य दिव्यांगों की सेवाओं के लिए संलिप्त रहना है। पहल कानपुर जिले व आसपास के क्षेत्रों में अपनी सेवाएं देता है।

Leave a Comment