गोरखपुर

वाहन गोरखपुर में चालान गोण्डा मे, जाने क्या है पूरा मामला

Above Article

गोरखपुर। वाहन गोरखपुर में हो और उसका चालान गोण्डा में हो तो सुनने में कुछ अजीब सा लगता है। परन्तु यातायात पुलिस के लिए कोई बड़ी बात नहीं है। स्वास्थ विभाग में कार्यरत अमरनाथ जायसवाल के मोटरसाइकिल का चालान गोंडा में किया गया है। जबकि श्री जायसवाल चालान किए गए मोटरसाइकिल का उपयोग गोरखपुर में कर रहे हैं। श्री जायसवाल ने बताया कि 13 जुलाई को उनके मोबाइल पर मैसेज आया कि उनके वाहन का चालान हो गया है जिसका शमन शुल्क एक हजार है। निस्तारण के लिए एसपी ट्राफिक कार्यालय गोंडा से संपर्क करें।

मैसेज देख श्री जायसवाल तनावग्रस्त हो गये। अगले दिन श्री जायसवाल ने जब यातायात कार्यालय गोरखपुर पर निरीक्षक एस एस शर्मा से संपर्क किया उन्होंने कार्यालय में चेक कराते हुए बताया कि वाहन का चालान यातायात गोण्डा द्वारा किया गया है और जिस वाहन का चालान किया गया है उस वाहनधारी का फोटो एवं नंबर प्लेट देखने से ज्ञात होता है कि उसका नंबर श्री जायसवाल के वाहन संख्या से भिन्न है।

यातायात विभाग गोंडा ने किसी और वाहन का चालान कर चालान राशि अमरनाथ जासवाल के माथे मढ़ दिया। विभाग के इस लापरवाहीपूर्ण कृत्य से श्री जायसवाल काफी दुखी हैं। श्री जायसवाल ने विभाग के इस लापरवाही के लिए जनसुनवाई पोर्टल पर आवेदन भेज मुख्यमंत्री से अपने वाहन पर लगाए गए अवैध चालान को निरस्त कराने एवं उचित कार्रवाई की मांग की है।

रिपोर्टर बीपी पाण्डेय

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close