सिंघु और टीकरी बॉर्डर के साथ Delhi UP गेट भी जाम

तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों के विरोध में सिंघु बॉर्डर पर किसानों का प्रदर्शन सोमवार को 26वें दिन में प्रवेश कर गया। फिलहाल प्रदर्शनकारी किसान टस से मस होने को तैयार नहीं हैं।

सिंघु और टीकरी बॉर्डर के साथ Delhi UP गेट पर भी हजारों की संख्या में किसान जमा हैं और कृषि कानूनों को लेकर विरोध जारी रखे हुए हैं। इस बीच सोमवार को भी दिल्ली-एनसीआर में आवाजाही में खासी दिक्कत है, क्योंकि किसानों के आंदोलन के चलते कई जगहों पर रास्ते बंद हैं।

इस बाबत Delhi यातायात पुलिस ने वाहन चालकों के लिए एडवायजरी जारी कर जाम से बचने की सलाह दी है, साथ ही बताया है कि किन रास्तों का सहारा लेकर आप जाम से बचते हुए अपना सफर तय कर सकते हैं।

किसानों के धरना-प्रदर्शन के चलते सिंघु बॉर्डर के साथ-साथ औचंडी, पियाउ मनियारी और मंगेश बॉर्डर भी बंद हैं, ऐसे में वाहन चालक वैकल्पिक रास्तों का इस्तेमाल करें।रास्तों के बंद होने की वजह से लामपुर, सफियाबाद, सबोली और सिंघु स्कूल टोल टैक्स बॉर्डर के जरिये वाहन चालक सफर कर सकते हैं।

इसके अलावा, यातायात को मुकरबा और जीटी रोड से भी डायवर्ट किया गया है। ऐसे में वाहन चालकों से गुजारिश की गई है कि वे रिंग रोड, जीटीके रोड और नेशनल हाई-वे-44 से बचें।

दिल्ली से सटे नोएडा शहर में चिल्ला बॉर्डर पर एक रास्ता दिल्ली जाने के लिए खुला है, जबकि दूसरा रास्ता बंद है। ऐसे में वाहन चालकों संभल कर इन रास्तों का इस्तेमाल करें। वाहन चालक नोएडा से दिल्ली आने के लिए डीएनडी का इस्तेमाल कर सकते हैं।

तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को खत्म करने की मांग को लेकर पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों के किसान दिल्ली-एनसीआर में धरने पर बैठे हैं। इसके चलते चलते कई जगहों पर आवाजाही ठप है।

Leave a Comment