सुनहरा मौका: 28 दिसंबर से जाने कब तक Gold के दाम मे आएगी कमी

नए साल 2021 से पहले आप मोदी सरकार से सस्ता Gold खरीद सकते हैं। 28 दिसंबर 2020 से एक जनवरी 2021 के बीच सरकार एक बार फिर आपको सॉवरेन गोल्ड बांड में निवेश का मौका दे रही है।

यह गोल्ड फिजिकल रूप में नहीं मिलेगा।  गोल्ड बॉन्ड की अगली किस्त के लिए 5000 रुपये प्रति ग्राम का भाव तय किया गया है। रिजर्व बैंक ने गुरुवार को यह जानकारी दी।

आरबीआई ने कहा, गोल्ड बॉन्ड के लिए इंडियन बुलियन एंड जूलर्स एसोसिएशन लिमिटेड द्वारा 999 शुद्धता के Gold के प्रकाशित सामान्य औसत बंद भाव पर आधारित है। इसके तहत दाम 5,000 रुपये प्रति ग्राम तय हुआ है। इस मामले में कारोबारी दिवस 22 से 24 दिसंबर है।

सरकार ने केंद्रीय बैंक के साथ विचार-विमर्श कर ऑनलाइन आवेदन करने और डिजिटल माध्यम से भुगतान करने पर निवेशकों को प्रति ग्राम 50 रुपये की छूट देने का निर्णय किया है।

श्रृंखला आठ के स्वर्ण बांड का निर्गम मूल्य 5,177 रुपये प्रति ग्राम तय किया गया था। यह आवेदन के लिये नौ नवंबर को खुला था और 13 नवंबर को बंद हुआ था।  केंद्रीय बैंक सरकारी स्वर्ण बांड 2020-21 भारत सरकार की तरफ से जारी करता है।

बांड में निवेशक एक ग्राम के गुणक में निवेशक कर सकते हैं। इसमें निवेश की अवधि आठ साल है। पाचवें साल से योजना से ब्याज भुगतान की तिथि से बाहर निकलने का विकल्प उपलब्ध है।

बांड की बिक्री व्यक्तिगत रूप से यहां के निवासियों, हिंदु अविभाजित परिवार, न्यास, विश्विविद्यालय और परमार्थ संस्थानों को ही की जाएगी।

इसमें व्यक्तिगत रूप से और हिंदु अविभाजित परिवार प्रति वित्त वर्ष न्यूनतम एक ग्राम Gold और अधिकतम चार किलो Gold के लिये निवेश कर सकते हैं। जबकि न्यास और इस प्रकार की अन्य इकाइयां प्रति वर्ष 20 किलो Gold में निवेश कर सकते है।

एसजीबी के हर आवेदन के साथ निवेशक PAN जरूरी है। सभी कामर्शियल बैंक (आरआरबी, लघु वित्त बैंक और भुगतान बैंक को छोड़कर), डाकघर, स्टॉक होल्डिंग कॉरपोरेशन ऑफ़ इंडिया लिमिटेड (एसएचसीआईएल), नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ़ इंडिया लिमिटेड और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज या सीधे एजेंटों के माध्यम से आवेदन प्राप्त करने और ग्राहकों को सभी सेवाएं प्रदान करने के लिए अधिकृत हैं।

Leave a Comment