Advertisement

Vikram Lander के ऊपर से गुजरने वाला है NASA का Lunarcraft

देश
Advertisement

भारत के लैंडर विक्रम के लिए आज का दिन बेहद खास है। ऐसा इसलिए क्‍यों‍कि आज नासा इ सकी इमेज खींचने की पहली कोशिश करने वाला है। नासा इसके लिए Lunar Reconnaissance Orbiter का इस्‍तेमाल करेगा। नासा का यह ऑर्बिटर वर्ष 2009 से ही चांद के चक्‍कर लगा रहा है। आज यही LRO उस जगह से गुजरेगा जहां पर लैंडर विक्रम चांद की सतह पर पड़ा है। आज जिस मिशन को नासा अंजाम देने वाला है उसको लिए LRO की ऊंचाई को 100 किमी से 90 किमी किया जाएगा।

Advertisement

इसकी जानकारी खुद नासा के दो एस्‍ट्रॉनॉट्स ने दी है। नासा का ल्‍यूनारक्राफ्ट यदि आज के अपने इस मिशन में कामयाब हो गया तो यह भी काफी बड़ी उपलब्धि होगी। आपको बता दें कि चंद्रयान 2 के तहत छोड़ा गया ऑर्बिटर अब भी चांद के चक्‍कर लगा रहा है।

इसने ही 9 सितंबर को सबसे पहले Vikram lander की थर्मल इमेज खींची थी। इसके जरिए ही उस जगह का पता चल सका था जहां आज लैं इससे पहले विक्रम की पॉजीशन और इसके चांद की सतह  Moon’s surface पर उतरने को लेकर भी असमजंस की स्थिति बनी हुई थी। लेकिन ऑर्बिटर से मिली थर्मल इमेज से यह साफ हो गया कि विक्रम चांद की सतह पर ही उतरा है। इससे पहले इस बात की भी आशंका लगाई जा रही थी कि कहीं विक्रम मार्ग से भटककर ब्रह्मांड में कहीं खो न गया हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *