सुप्रीम कोर्ट का फैसला, सोमवार से एक घंटे ज्याादा होगी मामले की सुनवाई

देश

Ayodhya land dispute case में सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ ने शुक्रवार को 28वें दिन सुनवाई की। Chief Justice Ranjan Gogoi की अध्‍यक्षता वाली पीठ ने निश्‍चय किया कि वह सोमवार से मामले की सुनवाई एक घंटा ज्‍यादा करेगी।

पीठ ने हिंदू और मुस्लिम पक्ष के वकीलों से कहा कि अदालत ने सोमवार से सुनवाई के रोजाना समय को चार बजे से बढ़ाकर पांच बजे तक करने का फैसला किया है। अमूमन, शीर्ष अदालत शाम चार बजे के बाद मामलों की सुनवाई नहीं करती है।

बीते बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई की समय सीमा तय करते हुए कहा था कि उम्‍मीद है कि 18 अक्‍टूबर तक सुनवाई खत्‍म हो जाएगी। साथ ही यह भी साफ कर दिया था कि अब मध्‍यस्‍थता की कोशिशों को लेकर सुनवाई नहीं रोकी जा सकती है।

यही नहीं अदालत ने पक्षकारों को मध्यस्थता से समझौता करने को लेकर भी छूट दी थी। शीर्ष अदालत ने कहा था कि यह पहले की तरह ही गोपनीय रहेगी। साथ ही कहा था कि सुनवाई लगातार आगे भी जारी रहेगी। इससे माना जा रहा है कि देश के इस सर्वाधिक चर्चित मामले में नवंबर तक फैसला आ जाएगा।

शीर्ष अदालत ने मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन को धमकाने के मामले में कल सुनवाई की थी। सुनवाई के दौरान तमिलनाडु के प्रोफेसर शनमुगम ने अपनी गलती स्‍वीकार करते हुए माफी मांगी। अदालत ने कहा कि 88 साल की उम्र में वह ऐसा क्यों कह रहे हैं। प्रोफेसर ने रामलला के खिलाफ पेश होने पर पत्र लिखकर शाप दिया था।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *