स्वामी चिनम्यानंद और छात्रा की रिमांड पर फैसला आज

Swami Chinmayanand, छात्रा और अन्य तीनों युवकों की रिमांड पर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की Court में शुक्रवार को बहस हुई। तीनों पक्षों के वकीलों ने विशेष जांच दल को रिमांड देने का विरोध किया। इस पर जज ने फैसला सुरक्षित कर दिया है। अब शनिवार को फैसला आएगा।

SIT ने मुख्य दंडाधिकारी कोर्ट में गुरुवार को प्रार्थना पत्र दिया था, जिसमें दुष्कर्म व रंगदारी के मामलों की जांच में Swami Chinmayanand, छात्रा व तीनों युवकों का रिमांड मांगा था। ताकि दोनों मामलों में वायरल हो रहे वीडियो व उन पांचों की आवाज का सैंपल लेकर लैब में मिलान कराया जा सके।

इस पर शुक्रवार दोपहर 2 बजे के बाद बहस हुई। तीनों पक्षों के वकीलों ने रिमांड दिए जाने का विरोध किया। इसको लेकर अपने तर्क भी रखे। जिसके बाद मुख्य दंडाधिकारी ओमवीर सिंह ने शनिवार तक रिमांड देने पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया।

Swami Chinmayanand पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली छात्रा ने SIT को 43 वीडियो क्लिप वाली एक Pen Drive सौंपी थी। इसके अलावा Swami Chinmayanand व छात्रा के कुछ वीडियो भी वायरल हुए थे, जिनके आधार पर छात्रा ने Swami Chinmayanand के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी।

वहीं, दो अन्य वीडियो भी वायरल हुए थे, जिनमें एक कार में छात्रा, उसका दोस्त संजय सिंह व दो अन्य युवक नजर आ रहे थे। वीडियो में बातचीत के आधार पर उन चारों लोगों पर Swami Chinmayanand से 5 करोड़ की रंगदारी मांगने का आरोप लगाया गया था। दोनों ही मामलों में SIT Swami Chinmayanand, छात्रा व तीनों युवकों को जांच के आधार पर जेल भेज चुकी है, लेकिन वायरल हो रहे वीडियो व पांचों की आवाजों का मिलान कराया जाना बाकी है।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *