कानपुर में कई जगह हुआ रावण दहन, गूंजता रहा जय श्रीराम

असत्य पर सत्य की विजय का प्रतीक विजयदशमी पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। मंगलवार की आधी रात 12 बजे शहर में परेड समेत कई जगह पर दशहरा रामलीला में रावण वध होने पर पुतला दहन किया गया। बुराई का प्रतीक रावण का अंत होते ही आसमान में सतरंगी आतिशबाजी की छटा बिखर गई और जय श्रीराम के उद्घोष गुंजायमान होते रहे। दशहरा मेला में शाम से लेकर देर रात भीड़ रही, जहां बच्चों में झूले और चटपटे खानपान का मजा लिया।

शहर की सबसे बड़ी रामलीला परेड स्थित मैदान में आयोजित हो रही है। विजयदशमी पर्व पर यहां दशहरा मेला आयोजित हुआ। देर शाम शुरु हुई लीला में भगवान श्रीराम ने आततायी रावण का अंत किया तो जय श्रीराम से माहौल गूंज उठा। इसके बाद रामलीला के श्रीराम के हाथों रावण पुतला दहन किया गया। रावण पुतले में आग लगते ही आसमान सतरंगी रोशनी से सराबोर हो गया।

रावण दहन के लिए हजारों की संख्या में लोग एकत्र हुए। इसी तरह मोतीझील स्थित मैदान में रावण दहन किया गया, यहां मेले में लोगों की भीड़ देर रात तक उमड़ती रही। शास्त्री नगर सेंट्रल पार्क, कल्याणपुर मां आशा देवी मंदिर, आइआइटी नानकारी, अर्मापुर स्टेट, मंधना, चकेरी और किदवई नगर में रावण पुतला दहन हुआ।

इन सभी स्थानों पर मेले में देर रात तक भीड़ के आने-जाने का सिलसिला चलता रहा। वहीं आसपास के जिलों में भी दशहरा पर्व धूमधाम से मनाया गया। फतेहपुर के बिंदकी में रावण दहन देखने के लिए लोगों की भीड़ एकत्र रही और देर रात पुतला जलते ही भगवान राम की जयकार गूंज उठी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *