Bihar में बारिश के बीच नदियां मे बाढ़ का कहर जारी

Bihar में बारिश के बीच नदियां उफान पर हैं बाढ़ का कहर बढ़ता जा रहा है। सैकड़ों गांव बाढ़ की चपेट में हैं। खेतों में लगी फसलें डूब गई हैं। हजारों लोग विस्‍थापित हो चुके हैं। लोगों का निचले इलाकों से सुरक्षित जगहों पर जाना लगातार जारी है।

पशुओं के चारे का भी संकट खड़ा हो गया है। तटबंधों पर पानी के भारी दबाव के बीच बांध टूट रहे हैं। गोपालगंज में रिंग बांध टूटने के बाद मुख्‍य तटबंध दो जगह टूट गया है। पूर्वी चंपारण में चंपारण तटबंध भी टूटा है।

गोपालगंज को बेतिया से जोड़ने वाले गंडक नदी के जादोपुर-मंगलपुर महासेतु का संपर्क पथ ध्वस्त हो गया है। सीतामढ़ी व पूर्वी चंपारण सड़क संपर्क भंग हो गया है तो जमुई में रेल ट्रैक पर पानी चढ़ गया है। इस बीच बीते 24 घंटे के दौरान बाढ़ के पानी में डूबने से 17 लोगों की मौत हो गई है।

गुरुवार की रात गोपालगंज जिले के बरौली में देवापुर तथा सिधवलिया के सिकटिया में गंडक नदी के पानी के दबाव से रिंग बांध टूट गया। रिंग बांध टूटने से गंडक नदी का दबाव सारण मुख्‍य तटबंध पर पड़ा।

इससे गोपालगंज के बरौली स्थित देवापुर में सेलुइस गेट के पास पानी के दबाव के कारण सारण तटबंध टूट गया है।

इससे गंडक नदी का पानी राष्‍ट्रीय उच्‍च पथ 28 की तरफ तेजी से फैल रहा है। देवापुर गांव में गंडक का पानी घुसने से हहाकार मच गया है। मांझागढ़ प्रखंड के पुरैना में भी सारण तटबंध टूट गया है।

गोपालगंज से बेतिया को जोडऩे के लिए गंडक नदी पर बनाए गए जादोपुर-मंगलपुर महासेतु का संपर्क पथ गुरुवार को ध्वस्त हो गया। जिले के सदर प्रखंड के राजवाही बीन टोली गांव के समीप सुबह गंडक के दबाव से सड़क टूटने के कारण महासेतु पर आवागमन ठप हो गया है।

जादोपुर- मंगलपुर महासेतु का उद्घाटन 2015 में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तथा तत्कालीन उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने किया था। सारण जिले में गंडक का जलस्तर बढऩे से पानापुर, तरैया व परसा प्रखंड के दो दर्जन गांव बाढ़ के पानी से घिर चुके हैं।

Leave a Comment