Advertisement

अब धावकों के जूतों में लगाई जाएगी चिप, पकड़ में आएगा फर्जीवाड़ा

उत्तर प्रदेश
Advertisement

Athletics प्रतियोगिताओं में पारदर्शिता लाने के लिए जल्द ही धावकों के जूतों में चिप टाइमिंग सिस्टम लगाया जाएगा। इससे मैराथन प्रतियोगिताओं में होने वाली गड़बड़ी रुकेगी। यह चिप हर धावक के जूते में फिट होगी, जो फिनिश लाइन पर सही टाइमिंग दिखाकर पात्र को ही विजेता बनाएगी। इसकी संपूर्ण रूपरेखा यूपी Athletics संघ ने तैयार कर ली है। जल्द ही शहर में होने वाली Athletics प्रतियोगिता व मैराथन में यह व्यवस्था लागू की जाएंगी।

Advertisement

दौड़ प्रतियोगिताओं में हो रही गड़बड़ी को सीटीएस प्रक्रिया से लगाम लगेगी। इससे किसी भी खिलाड़ी के साथ अन्याय या भेदभाव नहीं होगा। मैराथन व प्रतियोगिताओं में सैकड़ों की संख्या में धावक भाग लेते हैं। जब बड़ी संख्या में खिलाड़ी दौड़ते हैं, तो कुछ धावक अन्य वाहन व किसी साधन से फिनिशिंग लाइन पर पहुंच जाते है। इस बेईमानी पर अब रोक लगेगी।

प्रतियोगिताओं के दौरान एथलीटों के जूतों में इस चिप को फिट किया जाएगा। जो फिनिशिंग लाइन पर पहुंचने पर हर धावक की टाइमिंग दिखाकर जीत-हार का पता लगाने में सहायक बनेगी। जब एथलीट लोकेटर से होकर गुजरेगा तो सारी प्रक्रिया सिस्टम में दिख जाएगी। इसका पहला चरण स्टैंड एलोन जिसमें मशीन एक ही जगह पर रहती है। इससे डाटा पेनड्राइव में लेते हैं।

वहीं दूसरी नेटवर्क या सर्विस बेस्ड तकनीकी है, जिसमें नेटवर्क के जरिए सभी प्रक्रिया पूर्ण हो जाती है। इसको सिस्टम में देखकर सही-गलत का निर्णय आसानी से लिया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *