Advertisement

सऊदी अरब ने लगाया ईरान पर हमले का आरोप

अंतराष्ट्रीय
Advertisement

सऊदी अरब ने बुधवार को कहा कि उसके तेल संयंत्रों पर हमले बिना शक Iran ने ही करवाए हैं। अभी हमले की लांचिंग के सटीक ठिकाने का पता नहीं चला है, लेकिन यह उत्तर की ओर से ही हुए थे, जो Iran की ओर संकेत करता है। संवाददाता सम्मेलन में रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता तुर्की अल-मलीकी ने 18 Drone और 7 क्रूज मिसाइलों के टुकड़े भी दिखाए। हमले में इनका इस्तेमाल हुआ था। सऊदी के इस बयान ने क्षेत्र में तनाव बढ़ा दिया है।

Advertisement

ये हमले के लिए इस्तेमाल मिसाइलों के अवशेष है। सऊदी सरकार का कहना है कि अरामको तेल सुविधा पर हमला करने के लिए इनका उपयोग किया गया था। सऊदी अरब की नामचीन तेल कंपनी अरैमको की अबकैक स्थित Oil processing facility और खुरैश स्थित बड़ी Oil Field को शनिवार को Drone से निशाना बनाया गया था। इन Drone हमलों की जिम्मेदारी Iran समर्थित यमन के हाउती विद्रोहियों ने ली है। America और सऊदी अरब इसमें Iran की भूमिका मान रहे हैं।

मलीकी ने कहा, ‘हमले उत्तर की ओर से हुए और बिना शक Iran ने करवाए। हम सटीक ठिकाने का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं।’ मलीकी ने यह नहीं कहा कि सऊदी को Iran के दोषी सिद्ध हो जाने का भरोसा है। उम्मीद जताई कि हमले की सटीक जगह का पता जरूर लग जाएगा। इससे पहले अमेरिकी अधिकारियों ने कहा था कि संयंत्रों पर हमले में Drone के साथ क्रूज मिसाइलों का इस्तेमाल किया गया था। इस से स्पष्ट होता है कि स्थिति बहुत सीधी नहीं है। America के Foreign Minister माइक पोंपियो ने हमले को Iran प्रायोजित बताते हुए इसे युद्ध की गतिविधि की संज्ञा दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *