Advertisement

दुनिया के 81 देशों की जनसंख्या से अधिक है इस बोर्ड के परीक्षार्थी

प्रयागराज
Advertisement

दुनिया की सबसे बड़ी परीक्षा कराने वाली संस्था UP Board से 2020 की परीक्षा में शामिल हो रहे छात्र-छात्राओं की संख्या दुनिया के 81 देशों की अपनी जनसंख्या से भी अधिक है। 18 फरवरी से प्रस्तावित High School और Intermediate परीक्षा के लिए इस साल 56,01,034 परीक्षार्थी पंजीकृत हैं।

Advertisement

परीक्षा की व्यापकता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि Board परीक्षार्थियों की संख्या विश्व के 194 देशों में से 81 की जनसंख्या से भी ज्यादा है। संयुक्त राष्ट्र संघ ने दुनियाभर के विभिन्न देशों की 2017 में जनसंख्या का जो अनुमान लगाया था उसके मुताबिक 81 देश ऐसे हैं जहां 56 लाख या उससे कम लोग हैं।

इस साल Board परीक्षार्थियों की संख्या में लगभग 2 लाख छात्र-छात्राओं की कमी हुई है। मजे की बात यह है कि 31 देश ऐसे हैं जिनकी कुल जनसंख्या 6 लाख नहीं है। 2019 की परीक्षा के लिए 5795756 छात्र-छात्राएं पंजीकृत थे जबकि 2020 में यह संख्या 56,01,034 है।

आंकड़ों की बात करें तो कई बड़े देशों की जनसंख्या UP Board के परीक्षार्थियों से कम पड़ जाएगी। फिनलैंड व स्लोवाकिया में क्रमश: 55 व 54 लाख, नार्वे में 53, न्यूजीलैंड, फिलिस्तीन व आयरलैंड की आबादी 49-49 लाख है।

UP Board की शुरुआत महज 5744 परीक्षार्थियों से हुई थी। 1921 में स्थापित UP Board ने पहली सार्वजनिक परीक्षा 1923 में कराई थी। उस वक्त 10वीं के लिए 179 और 12वीं की परीक्षा के लिए एक केंद्र बनाया गया था। धीरे-धीरे परीक्षार्थियों की संख्या बढ़ती गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *