Advertisement

गैस चैंबर बना Delhi-NCR, हेल्थ इमरजेंसी घोषित

नई दिल्ली
Advertisement

 दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण की स्थिति अति गंभीर स्थिति में पहुंच जाने के कारण Environmental Pollution Control and Protection Authority ने Health emergency घोषित कर दी है। मौजूदा स्थिति को गैस चैंबर बताते हुए स्वास्थ्य के प्रति अतिरिक्त सतर्कता बरतने की हिदायत दी है। साथ ही तमाम तरह के प्रतिबंध भी लगा दिए हैं। दिल्ली, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और Rajasthan के मुख्य सचिवों को पत्र लिखकर इन सभी प्रतिबंधों पर अमल सुनिश्चित करने के लिए कहा है। इसके बाद दिल्ली में 5 नवंबर तक के लिए स्कूल बंद कर दिए गए हैं।

Advertisement

इस साल जनवरी के बाद पहली बार Delhi में हवा की गुणवत्ता बिगड़कर आपात स्थिति में पहुंच गई। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश में बने ईपीसीए के अध्यक्ष भूरेलाल ने शुक्रवार को उक्त सभी राज्यों के मुख्य सचिवों को लिखे गए पत्र में कहा कि गुरुवार रात Delhi -NCR में वायु गुणवत्ता बहुत खराब हो गई और अब उससे भी आगे खतरनाक श्रेणी में पहुंच रही है। हम इसे जन स्वास्थ्य आपातकाल की तरह ले रहे हैं क्योंकि वायु प्रदूषण का स्वास्थ्य पर गंभीर प्रभाव होगा, विशेषकर बच्चों के स्वास्थ्य पर।

 मौसम विभाग ने कुछ दिनों में हालात सुधरने की संभावना जताई है, लेकिन तब तक हाथ पर हाथ धरे नहीं बैठा जा सकता। इसीलिए एहतियातन दिल्ली एनसीआर में 5 नवंबर तक विभिन्न प्रतिबंधों की घोषणा की गई है। ईपीसीए ने सभी राज्यों से प्रदूषण बढ़ने से रोकने के लिए स्थानीय स्तर पर सख्ती बरतने, निगरानी बढ़ाने, धूल उड़ने से रोकने और कचरे जलाने की घटनाओं पर भी पूर्णतया अंकुश लगाने को कहा है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *