Advertisement

पुणे, रायगढ़ और नासिक में भारी बारिश का अलर्ट

देश
Advertisement

Cyclonic storm महा जो कि पूर्व-मध्य अरब सागर पर था, पिछले छह घंटों में 19 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार के साथ West North की ओर बढ़ गया है। अगले 24 घंटों के दौरान इसकी North West की ओर बढ़ने की संभावना है और शनिवार से सोमवार के बीच पश्चिम और उत्तर-पश्चिम की ओर, इसके बाद ये पूर्व-उत्तर-पूर्व की ओर South Gujarat तट की तरफ फिर से बढ़ेगा।

Advertisement

आईएमडी ने अपने अखिल भारतीय मौसम पूर्वानुमान बुलेटिन में कहाअगले 24 घंटों के अंदर पूर्व-मध्य अरब सागर पर एक बहुत गंभीर चक्रवाती तूफान में तेजी होने की संभावना है।

मौसम पूर्वानुमान एजेंसी ने आगे पूर्वानुमान लगाया कि पश्चिम-मध्य अरब सागर पर अवसाद भी पिछले छह घंटों के दौरान 24 किमी प्रति घंटे की गति के साथ पश्चिम-दक्षिण-पश्चिम की ओर बढ़ गया है। अगले 12 घंटों के दौरान यह पश्चिम-मध्य अरब सागर में दक्षिण-पश्चिम की ओर बढ़ने और अवसाद की तीव्रता बनाए रखने की बहुत संभावना है और इसके बाद कम दबाव वाले क्षेत्र में कमजोर हो सकता है। इसके अलावा, थाइलैंड की खाड़ी और पड़ोस में चक्रवाती परिसंचरण के प्रभाव में 3 नवंबर को उत्तर अंडमान सागर के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है।

शुक्रवार को तमिलनाडु के मदुरै में बारिश के कारण वैगई नदी का जलस्तर बढ़ गया था। लक्षद्वीप में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश होने की संभावना है। मौसम विभाग ने केरल और कर्नाटक के तटीय इलाकों में भी भारी से हल्की बारिश का अलर्ट जारी किया गया था।

मछुआरों को लक्षद्वीप क्षेत्र और उससे सटे दक्षिण-पूर्व अरब सागर में प्रवेश नहीं करने की सलाह दी। वहीं, लक्षद्वीप के कलपेनी द्वीप पर गुरुवार भारी बारिश के काफी तबाही हुई। मौसम विभाग ने गुरुवार को ही मध्य अरब सागर और उससे सटे लक्षद्वीप क्षेत्र पर गंभीर चक्रवाती तूफान माहे को लेकर चेतावनी जारी की थी।

Advertisement

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *