Advertisement

Lockdown के चलते लोगों ने अपने अपने घरों में ईद की नमाज की अदा

उत्तर प्रदेश
Advertisement

Corona महामारी के प्रकोप ने हमारी सामाजिक और धार्मिक दिनचर्या में बदल कर रख दिया है। पूरे UP में सोमवार को खुशियों का पर्व ईद उल फितर सादगी से मनाया जा रहा है। यह पहला मौका है जब ईदगाह में सामूहिक नमाज नहीं हो रही है। इस बार Corona Virus महामारी के चलते Lockdown के कारण धार्मिक कार्यक्रमों व भीड़भाड़ वाले आयोजनों पर पाबंदी है। लोग घरों में ही ईद की नमाज अदा कर Physical distancing का पालन कर रहे हैं।

Advertisement

इस वक्त Corona Virus जैसी महामारी के जारी कहर और Lockdown के चलते कई तरह की लगी बंदिशें के बीच देश आज ईद मना रहा है। लोगों ने घरों में नमाज अदा कर अमन की दुआ मांगी। Corona Virus ने इस बार मुसलमानों के इस सबसे बड़े त्यौहार की रौनक खत्म कर दी। न कोई ईदगाह गया और न ही मस्जिदों में सामूहिक नमाज के बाद लोग एक दूसरे के गले मिल सके। न ही इस बार दावतों के दौर होने हैं और न ही सेवई के सामूहिक जायके का आनंद मिलना है। इतना ही नहीं, Lockdown के कारण बाजारों में भी कई तरह की बंदिशें लगी हुई हैं।

ईद के दिन UP के कई शहरों से  मारपीट और पथराव की घटनाएं भी समाने आई हैं। मेरठ के लिसाडी गेट के लकखीपुरा मै ईद की नमाज को लेकर 2 पक्षो में जमकर मारपीट और पथराव हुआ। दोनों पक्षों के एक दर्जन लोग घायल हो गए हैं। Police ने 5 लोगो को गिरफ्तार किया है। वहीं अलीगढ़ के कस्बा दादों की मस्जिद में नमाज को लेकर सोमवार की सुबह मुस्लिम समाज के ही दो पक्ष आमने सामने आ गए। जमकर पथराव व मारपीट हुई। इस दौरान 2 लोग घायल हुए हैं। सूचना पर पहुंची Police ने दोनों पक्षों के लोगों को हटाया।

UP की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित और CM Yogi सहित तमाम मंत्री और नेताओं ने प्रदेशवासियों को ईद उल फितर की शुभकामनाएं देते हुए उनके सुख एवं समृद्धि की कामना की है। अपने बधाई संदेश में राज्यपाल ने कहा कि ईद का पर्व हमें मोहब्बत, एकता और आपसी भाईचारे का संदेश देता है। Corona संक्रमण को देखते हुए घर से ही नमाज पढ़ें और आवश्यक एहतियात बरतें। सभी के सुख-समृद्धि की कामना करते हुए विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि इस अवसर पर सबको समाज में आपसी सौहार्द कायम करने का संकल्प लेना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *