Advertisement

घने कोहरे ने हाईवे समेत अन्य प्रमुख मार्गो पर वाहनों की रोकी रफ्तार

आगरा
Advertisement

गुरुवार की रात को पड़े घने कोहरे ने हाईवे समेत अन्य प्रमुख मार्गो पर वाहनों की रफ्तार रोक दी। कोहने के चलते दृ्श्यता शून्य हो गई थी। इसके चलते ट्रक चालकों ने वाहनों को रोक दिया।

Advertisement

उन्हें सड़क किनारे खड़ा कर दिया। पीछे से आते वाहनों की टक्कर से बचने के लिए पार्किंग लाइट और डिपर का प्रयोग। शुक्रवार सुबह तक घन कोहरा छाया रहा।

कोहरा पड़ने की शुरूआत गुरुवार की रात रात आठ बजे से शुरू हो गई थी। इसके चलते नेशलन हाईवे, लखनऊ और कानपुर एक्सप्रेस वे पर वाहनों की रफ्तार थम सी गई।

यमुना एक्सप्रेस वे पर कोहरे के चलते हादसों को रोकने के लिए वाहनों की अधिकतम रफ्तार 80 किलोमीटर प्रति घंटा कर दी गई है। नव वर्ष की शुरुआत में यमुना एक्सप्रेस वे और लखनऊ एक्सप्रेस वे पर कई हादसे हो गए थे।एक्सप्रेस पर कोहरे में सीसीटीवी कैमरे भी प्रभावी तरीके से काम नहीं करते हैं।

इसके चलते एमजी रोड, नेशनल हाईवे, लखनऊ एक्सप्रेस वे और यमुना एक्सप्रेस वे पर वाहनों की रफ्तार थमी रही। कोहरे के चलते कुछ दिखाई नहीं देने से चालक वाहनों का कछुआ गति से चलाते दिखे।

Advertisement

वहीं रास्ता भटकने और हादसे की आशंका के चलते वाहन एक दूसरे के पीछे चलते रहे। रात आठ बजे से शुरू हुआ कोहरा शुक्रवार की सुबह नौ बजे तक पड़ता रहा।

गुरुवार की सुबह कानपुर नेशनल हाईवे पर कोहरे के चलते रोडवेज बस ने बाइक सवार चाचा-भतीजा को रौंद दिया था। दोनों की मौके पर मौत हो गई थी। नगला किशन लाल निवासी दुष्यंत अपने भतीजे वरुण शर्मा के साथ घर से झरना नाले पर बंदरों को केला खिलाने के लिए गए थे।

झरना नाले पर काफी घना कोहरा था। गुरुवार की सुबह आठ बजे फीराेजाबाद की आेर से आती बस ने हाईवे पार करते समय बाइक को रौंद दिया। बस दोनाें को कई मीटर दूर तक घसीटती ले गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *